बड़वानी में भड़का सरदार सरोवर बांध डूब प्रभावितों का आक्रोश, चक्काजाम

2019-10-20T05:57:39
0

बड़वानी. सोमवार को दिनभर नबआं की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई को लेकर भी असमंजस की स्थिति बनी रही। नबआं ने सुप्रीम कोर्ट की ओर से 8 अगस्त तक गांव खाली कराने की बात कही। वहीं, प्रशासन इस बात को नकारता रहा और मंगलवार 1 अगस्त से गांवों को खाली कराने का काम शुरू करने की बात कही। इस बीच कुछ गांवों में डूब प्रभावितों ने घर खाली करना भी शुरू कर दिया। सोमवार को सुबह 10 बजे चिखल्दा और खंडवा बड़ौदा स्टेट हाईवे पर डूब प्रभावित और नबआं कार्यकर्ता जमा हो गए और चक्काजाम कर दिया। नबआं कार्यकर्ताओं का कहना था कि चक्काजाम के माध्यम से सरकार को सीधा संकेत देना चाहते है कि बिना पुनर्वास के घाटी से टस से मस नहीं होंगे। सरकार चाहे 1500 की पुलिस बल की टुकड़ी ले आए या 15 हजार की, जब तक हमें संपूर्ण और न्यायपूर्ण पुनर्वास नहीं मिल जाता, हम सरकार द्वार...

पाकिस्तान: अपने ही देश में घिरे इमरान खान, विपक्ष के प्रदर्शनों को सेना की मदद से कुचलने की तैयारी

2019-10-20T05:57:13
0

इस्लामाबाद। पाकिस्तान पूरी दुनिया में कश्मीर को लेकर अपना दुखड़ा रो रहा है। वह मानवाधिकारों के हनन की झूठी दुहाई देता घूम रहा है। मगर पाक पीएम इमरान खान अपने ही देश में विपक्ष के विरोध प्रदर्शन से घिर गए हैं। इसे कुचलने के लिए सेना का सहारा लेने का मन बना चुके हैं। पाकिस्तानी मीडिया में सामने आई रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान सरकार राजधानी इस्लामाबाद में विपक्ष के विरोध मार्च को रोकने के लिए सेना का प्रयोग कर सकती है। गौरतलब है कि पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने इमरान खान पर धोखे से सत्ता में आने का आरोप लगाया है। साथ ही इन दलों ने विरोध प्रदर्शनों का ऐलान भी किया है।विपक्षी दल जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजल ने ऐलान किया है कि वह 31 अक्टूबर को सरकार के खिलाफ इस्लामाबाद में मार्च निकालेंगे। उनके मार्च को सभी विपक्षी पार्टी का समर्थन...

फर्जी बिल छपवाकर पंचायत में 14वें वित्त की राशि में हेराफेरी

2019-10-20T05:56:57
0

बालोद @ patrika . गुंडरदेही तहसील मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर ग्राम कचांदुर पंचायत में ग्राम विकास की राशि का गबन का मामला सामने आया है। @ patrika .इस मामले की जांच की मांग को लेकर सप्ताहभर पूर्व ही ग्रामीणों ने जनपद पंचायत व एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है। ग्रामीणों ने सरपंच और सचिव पर आरोप लगाया है कि दोनों ने मिलकर ग्राम पंचायत में चाय नाश्ता के साथ अन्य के लिए फर्जी बिल लगाकर राशि निकाल ली है। अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। सूचना के अधिकार के तहत दी जानकारी में गड़बड़ी का खुलासा गांव के युवक डिहार देशमुख ने सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के तहत ग्राम पंचायत कचांदूर की 14वें वित्त वर्ष 2017-18 आय-व्यय की जानकारी मांगी गई थी, जिसमें पाया गया कि सरपंच सचिव द्वारा दुकानों का फर्जी बिल प्रिंट करवा कर लगाया गया है। इस मामले का खुलास...


Create Account



Log In Your Account